Sunday, July 19, 2015

ताकि मैं अच्छे से पढ़ सकूँ,

Emotional Heart Touching short Story in hindi ,Inspirational stories in Hindi,heart touching stories with morals in Hindi,real heart touching lines and story in hindi

ताकि  मैं  अच्छे  से  पढ़  सकूँ


बाहर  बारिश  हो  रही  थी  और  अन्दर  क्लास  चल  रही  थी ,तभी  टीचर  ने  बच्चों  से  पूछा  कि  अगर  तुम सभी  को 100-100  रुपये  दिए  जाए  तो  तुम  सब क्या  क्या  खरीदोगे ?

किसी  ने  कहा  कि  मैं  वीडियो  गेम  खरीदुंगा, किसी  ने  कहा  मैं  क्रिकेट  का  बेट  खरीदुंगा , किसी  ने  कहा कि  मैं  अपने  लिए  प्यारी  सी  गुड़िया  खरीदुंगी,
तो  किसी  ने  कहा  मैं  बहुत  सी  चॉकलेट्स  खरीदुंगी,
एक  बच्चा  कुछ  सोचने  में  डुबा  हुआ  था, टीचर  ने उससे  पुछा  कि  तुम  क्या  सोच  रहे  हो ?

तुम  क्या  खरीदोगे ? बच्चा  बोला  कि  टीचर  जी, मेरी माँ  को  थोड़ा  कम  दिखाई  देता  है  तो  मैं  अपनी  माँ के  लिए  एक  चश्मा  खरीदूंगा ‌।

टीचर  ने  पूछाः  तुम्हारी  माँ  के  लिए  चश्मा  तो  तुम्हारे पापा  भी  खरीद  सकते  है,  तुम्हें  अपने  लिए  कुछ नहीं  खरीदना  ? बच्चे  ने  जो  जवाब  दिया  उससे टीचर  का  भी  गला  भर  आया | बच्चे  ने  कहा  कि मेरे  पापा  अब इस  दुनिया  में  नहीं  है |

मेरी  माँ  लोगों  के  कपड़े  सिलकर  मुझे  पढ़ाती  है और  कम  दिखाई  देने  की  वजह  से  वो  ठीक  से कपड़े  नहीं  सिल  पाती  है  इसीलिए  मैं  मेरी  माँ  को चश्मा  देना  चाहता  हुँ  ताकि  मैं  अच्छे  से  पढ़ सकूँ, बड़ा  आदमी  बन  सकूँ  और  माँ  को  सारे  सुख  दे सकूँ.