Tuesday, February 16, 2016

वॉरेन बफेट की सफलता के मंत्र

वॉरेन बफेट की सफलता के मंत्र, warren buffett quotes on life, warren buffett quotes on saving, warren buffett quotes on success in hindi warren buffett quotes on money in hindi best warren buffett story in hindi warren buffett quotes integrity warren buffett biography in Hindi warren buffett quotes on business warren buffett quotes honesty warren buffett quotes in hindi

वॉरेन  बफेट  की  सफलता  के  मंत्र


 वॉरेन बफेट  का  नाम  किसी  पहचान  का  मोहताज  नहीं  है। वॉरेन  दुनिया  के  तीसरे  सबसे  बड़े  अमीर  हैं। वॉरेन बफेट  अगर  आज  दुनिया  के  सबसे  अमीर  लोगों  में  से  हैं  तो  इसके  कई  कारण  हैं। लेकिन  हम  आज  वारे बफेट  के  करोड़पति  होने  के  कारण  उनकी  चर्चा  नहीं  कर  रहे  हैं  बल्कि  बेतहाशा  दौलत  के  मालिक  होने  के  बावजूद  उन्होंने जिस  जीवन शैली  को  अपनाया  है उसके  बारे  में  बताने  जा  रहे  हैं।

अपने  देश  में  तो  हम  आए  दिन  लोगों  द्वारा  अपनी  दौलत  के  गुरुर  में  किए  जाने  वाले  दिखावे  और  तड़क-भड़क  को  देखते  रहते  हैं। लेकिन  वारेन  बफेट  दुनिया  के  किसी  भी  अमीर  से  हर  मायने  में  अलग  हैं। कारोबार  की  पैनी  समझ  रखने  वाले  वॉरेन बफेट  में  कई  ऐसी  खूबियाँ  हैं  जो उनके  नाम  को  एक  अलग  पहचान  देती  है।

वॉरन बफेट  के  पास  कितनी  संपत्ति  है  इसका  तो  कोई  हिसाब  नहीं  मगर  फोर्ब्स  पत्रिका  के मुताबिक  वॉरेन  के  पास  2 हजार 620 अरब  की  संपत्ति  है । अपनी  संपत्ति  का  80 प्रतिशत  एक NGO  संगठन  को  दान  देकर  वॉरेन बफेट  अमरीका  के  इतिहास  में  इतनी  बड़ी  राशि  दान  करने  वाले  पहले  आदमी  हो  गए। वॉरेन  आज  भी  उसी  घर   में  रहते  हैं  जो  उन्होंने  1953  में  अपने  लिए खरीदा  था।


वॉरेन  बफेट ने इतनी संपत्ति कैसे  जमा की   


अमरीका  के  ओमाहा  के  नेब्रास्का  में  30 अगस्त 1930  में  जन्में  वॉरन बफेट  के  पिता  शेअर  बाजार में  कारोबारी  थे। 11 साल  की  उम्र  में  अपने  पिता  के  साथ  शेअर  बाजार  से  अपने  कारोबारी  जीवन की  शुरआत  की  और  अपने  जेब  खर्च  का  पैसा  निकालने  के  लिए  वह  अखबार  भी  बेचते  थे। 13 साल  की  उम्र  में  बफेट  ने  अपना  पहला  आयकर  रिटर्न  दाखिल  किया। 15 साल  की  उम्र  में  वारेन ने  अपेन  हाईस्कूल  के  दोस्त  के  साथ  मिलकर  एक  नाई  की  दुकान  पर  25 डॉलर  में  पिन बॉल (खेल  मशीन )  लगाकर  अच्छा  खासा  पैसा  बनाया, और  इस  पैसे  से  वॉरेन  ने  का  फार्म  हाऊस  खरीदा। इसके  बाद  वारेन  ने  अपने   तेज  कारोबारी  दिमाग  का  पूरा  उपयोग  करते  हुए  शेअरों  में  निवेश  करना  शुरु  किया  और  खूब  पैसा  कमाया।

20 साल  की  उम्र  में  अमरीका  के  हॉर्वर्ड  स्कूल  में  प्रवेश  न  मिलने  पर  बफेट  ने  कोलंबिया  बिज़नेस स्कूल  में  प्रवेश  लिया। वहाँ  वॉरेन  ने  बैंजामिन ग्रामह  और  डेविड डॉड  जैसे  अर्थशास्त्री गुरुओं से शेअर बाजार  में  निवेश  करने  के  गुर  सीखे।  वॉरेन  ने  कई  बड़ी  कंपिनयों  में  सबसे  ज्यादा  निवेश  कर  रखा है  जिसमें  कोकाकोला  और  जिलेट  जैसी  कंपनियाँ  प्रमुख  हैं। इन  कंपनियों  की  मिल्कियत  किसी  के पास  हो  पर  असली  मालिक  तो  वॉरेन बफेट  ही  है।

वॉरेन बफेट  के  पास  जितन  दौलत  है  उनकी  जीवन शैली  उतनी  ही  सरल  है । वॉरेन  आज  भी  उसी घर  में  रहते  हैं  जो  उन्होंने  50  साल  पहले  खरीदा  था। वे  अपनी  कार  खुद  चलाते  हैं, न  तो  उनके पास  कोई  ड्रायवर  है  न  कोई  सुरक्षा  गार्ड। वे  कभी  निजी  विमान  से  यात्रा  नहीं  करते  है , जबकि उनके  पास  दुनिया  की  सबसे  बड़ी  निजी  विमान  कंपनी  नेट जेट  के  मालिक  हैं। उनकी  कंपनी बर्कशायर  हेथवे  के  समुह  में  63 कंपिनयाँ  हैं। वे  अपने सभी  कम्पनियों  के  CEO  को  साल  में  केवल एक  बार  फोन  करते  हैं, जिसमें  वो  पूरे  साल  किए  जाने  वाले  कामों  के  बारे  में  सुझाव  देते  हैं।

वे  कभी  अपने  अधिकारियों  या  कारोबारियों  के  साथ  कोई  मीटिंग  नहीं  रखते  हैं । उन्होंने  अपने  सभी  अधिकारियों  को  दो  मूलमंत्र  दिए  हैं- एक,  अपने  शेअर  होल्डर  के  धन  का  किसी  भी  तरह  से नुक्सान  मत  होने  दो  और  दूसरा,  कभी  भी  पहले  नियम  को  मत  भूलो। वे  अपना  समय  कभी  भी ऊँचे  लोगों  की  होने  वाली  पार्टियों  में  नहीं  बिताते। वॉरेन  के  पास  न  तो  अपना  कोई  निजी  मोबाईल फोन  है  न  कंप्यूटर  या  लैपटॉप। खाली  समय  में  वे  या  तो  अपने  लिए  पॉपकॉर्न  बनाकर  खाते  हैं  या  टीवी  देखते  हैं। कुछ  साल  पहले  बिल गेट्स  ने  उनसे  मुलाकात  करने  के  लिए  अधे  घंटे  का समय  निकाला,  मगर  जब  बिल गेट्स  उनसे  मिलने  गए  तो  दोनों  की  यह  मुलाकात  आठ  घंटे  तक चली।

युवाओ  के  लिए  सफलता  के  सात  मंत्र 


1- क्रेडिट  कार्ड  की  मानसिकता  से  दूर  रहें  और  अपने  आप  पर  ही  निवेश  करें।
2- संपत्ति   ने  मनुष्य  का  निर्माण  नहीं  किया  है  बल्कि  मनुष्य  ने  संपत्ति  ईजाद  की  है।
3- अपनी  जिंदगी  को  जितनी  सहजता  और  सरलता  से  जी  सको, जीने  की  कोशिश  करो।
4- दूसरे  लोग  जो  कहते  हैं  वो  मत  करो, बस  उनकी  सुनो  और  वही  करो  जो  करना  आपके  अपने       हित  में  है, और  उससे  दूसरे  का  या  समाज  का  कोई  नुक्सान  भी  नहीं  होता  हो।
5- जाने  माने  ब्रॉंड  के  कपड़े  पहनने  की  बजाय  ऐसे  कपड़े  पहनो  जो  आपके  लिए  आरामदायक हो।
6- आपके  पास  पैसा  है  तो  उसे  बेकार  में   खर्च  करने  की  जगह  उन  लोगों  पर  खर्च  करो  जिन्हें          इसकी  जरुरत  है।
7- आप  अपनी  जिंदगी  खुद  जिओ,  दूसरों  को  अपना  मालिक  मत  बनने  दो।

 वारेन बफे  दुनिया  की  सबसे  अमीर  शख्सियत  है, इस  नजर  से  देखें, तो  उन्हे  किसी  चीज  की  कमी नहीं  है,  पर  निजी  जिंदगी  में  बफे  बेहद  सादगी  पसंद  इंसान  है। यहां  तक  निजी  विमान  से  यात्रा  के दौरान  भी  अपना  सामान  वह  स्वयं  उठाना  पसंद  करते  है । बफे  को  फिजूखर्ची  उन्हे  जरा  भी  पसंद नहीं।

अगर  आपके  पास  इतनी  दौलत  हो  तो  आप  क्या  करेंगे  जाहिर  है  कि  घर  बनवाएंगे । लेकिन  दुनिया में  एक  ऐसा  खरबपति  भी  है  जो  आज  भी  एक  पुराने  घर  में  रहता  है  जिसमें  सिर्फ  पांच  कमरे  का  छोटा  सा  घर   है  और  वह  भी  53  साल  पुराना। लगभग  50  अरब  की  दौलत  के मालिक  वारेन बफे  आज  भी  उसी  मकान  में  रहते  हैं  जिसे  उन्होंने  1953  में  31,500  डॉलर  में  खरीदा  था।  उनका  यह  मकान  अमेरिका  के  ओमाहा  में  है।बफे  का  मानना  है  कि  पैसा  कमाने  का  एक रास्ता  यह  भी  है  कि  उसे  बचाया  जाए। दरअसल  बचत  ही  आपकी  कमाई  है  और  यह  आपको  और  धनी  बनाती  है।